Cocooned in time


There they are,
imaculate and pure
cooconed in innocence
untouched by life

We have moved on
weaving our destinies
through fuzzy maze of time
with our own tussles and strife

‘Then’ has drifted away from the ‘Now’
seperated by layers of time
each twist n turn charting separate paths
each moment playing a dice

That moment still floats
serene in my mind
far away to touch and feel
yet close enough to entice

the mind knows I cannot
but the heart still pines
if i could go back,
it would be nice

But If if did reach that moment
through sheer force of love
I wonder what it would take
for my yearning to suffice

I would re-live the moment
Tempted to tell whats in store
Guide them of the twist n turns
of the pitfalls lurking in disguise

But I know I wouldn’t have the heart
to take away the god’s gift
of uncerain possibilities of life
be it good or otherwise

I would just watch
as they play in the moment
imaculate and pure
cooconed in innocence
untouched by life

एक और एज़फा सिफर हो गया

डायरी में काम लिख कर
पूरा दिन भर दिया
लो एक दिन और गुजर गया
एक और इज़ाफ़ा
सिफर हो गया

ये लिस्ट लंबी है
अभी काम बाकी है
वक्त का हर लम्हा भर सा गया है
एक और दिन इसी होड में
बिसर हो गया

रस्ता लंबा है
पेड़ों का साया पीछे रह गया
रुकने का वक्त मुकर्रर नहीं किया
हर नज़ारा मायूस है
कि नज़र अंदाज़ हो गया

सुबह हुई
रात का इंतजार हुआ
दिन गिनते हुए साल तमाम हुआ
उम्र बीत गईं
सुकून ए महफ़िल का इंतज़ार रहा

कौनसी मंज़िल मेरी है
कहां मुझे जाना है
कल इस पर गौर किया जाएगा
आज का दिन सारा
फिक्र में गुज़र गया

लंबी ड्राइव

चलो एक लंबी ड्राइव पे चलें
रास्ते और मंजिल से बेफ़िकर
एक बार बिना किसी मतलब के चलें

कुछ दूर चल कर तुम
सुकून की तरफ मोड़ लेना
मन करे तो वो अपना
पुराना गाना भी लगा लेना

आज हर बात की छूट है
हाँ तुम गुनगुना भी सकते हो
अपनी ही तो गाड़ी है
सुरों को तोड़ मरोड़ भी सकते हो

उन जंजीरों को फेंक देना
ख्वाहिशों को जो जकड़े हुए हैं
उन कचरे के डिब्बों में
जो रस्ते के मोड पर पडे़ हुए हैं

कभी सड़क पर
कभी थोड़ा उड़ते हुए
बादलों को अपनी सासों में रखना
अपनी रफ्तार तेज
और समय की रफ्तार धीमी रखना

वो देखो वहां रोशनी है
हंसी के कहकहे भी सुनी है मैंने
चलो उस तरफ चलें
रास्ते और मंजिल से बेख़बर
अपने बचपन में चलें
चलो एक लंबी ड्राइव पे चलें
चलो खयालों कि लंबी ड्राइव पे चलें
चलो अपने बचपन में चलें

Cooking a Happy Moment

Oil sizzles invitingly
Onions and tomatoes
Wait patiently sliced
The pan bears the heat
Its time to cook
Something is being created

Vegitables add colours
Nutrition also maybe
Meat also for those who prefer
Each bring their essence
Together they mingle
Something is getting created

Sprinkled spices
Wrinkle the nostrils
Aroma is the product
Not the food
But an essential part
Something is getting created

The garnish decorates
Eyes eat too
Possibly before the tongue
Tummy burns in anticipation
Mind more so
Something is getting created

Food on the plate
Ingredient lose themselves
Just one tasty dish
We gather around
Relish each morsel
One more happy moment is created