In the frost it lies

Under the white blanket
under the starry skies
The frozen twig
in the frost it lies

drop of the dying tree
frozen dry of the life sap
Yet carrying the snow
on its selfless back

Awaiting the inevitable end,
trampled by an unknowing boot
Splintering into many
into the dust and soot

Seeping into the melting ice
flowing into the soil
Carrying its essence,
in its last altruistic toil

Deep in the soil
it waits for the new summer
the seed of the new tree
Curled in a wintery slumber

Continuous and resplendent
the circle of life strives
under the white blanket
in the frost it lies

जिंदगी की कहानी

मिला उन सबसे
मेरी यादें हैं जो
हर लम्हों कि महक महसूस कर ली
ऐसा लगा जिंदगी फिर जी ली

हंसी के पल
ठहाके लगा कर जी लिए
फिर खुराफात के मौके ढूँढ लिए
फिर बचपन कि बेचैन दस्तक सुन ली

गले लगा के धड़कनों को पहचान लिया
उनकी खुशबु का असर देर तक महसूस किया
कभी दूर ना थे, ये एहसास हुआ
ऐसा लगा कि फिर उसी पल की नजाकत देख ली

हर शख्स जो मिला
जिंदगी का हिस्सा बन गया
वो मेरी और मैं उनकी कहानी बन गया
उनसे मुलाकात कर ऐसा लगा
फिर यादों में अपनी जिंदगी की कहानी सुन ली

Underneath the starry sky

Underneath the starry sky
Its lonely
They are so many
and its only me

Do they see
The twinkle in my eye?
Or can they see
the cleverly concealed lie?

Merrily they stand and watch
Transfixed in their velvety black dome
Unable themselves, yet mocking
Hoping I wouldn’t save my self on my own

Dawn is breaking
Its the end of thier time
Its a new day
And they know its mine

यादों का खजाना

हर दिन का हिसाब है
बुने नए कई ख्वाब हैं
कुछ रह गए खयालों में
कुछ हकीकत कि मिसाल हैँ ।

ख्वाबों से जिंदगी चुराई है
दिल भर कर जिया है।
हर लम्हा अनमोल था
यादों में कैद किया है।

यादों की चुस्की लेकर
फिर उन दिनों का मज़ा लेंगे
ख्वाबों का क्या है
फिर हिसाब लगा लेंगे